Director Vidhu Vinod Chopra disgraces Sikhs in his film

फिल्म पी के, के निर्माता या डाइरेक्टर विधु विनोद चोपड़ा हैं जिन्होंने संजय दत्त को लेकर फिल्म मिशन कश्मीर भी बनाई थी! यह कश्मीरी पंडित परिवार से हैं अत; स्वाभाविक है की अपनी फिल्मों में सिखों को नीचा दिखाने का हर संभव प्रयास करते हैं!

Vidhu Vinod Chopra

अब देखिये, मिशन कश्मीर में डल झील के किनारे का एक दृश्य फिल्माया गया था जिसमें एक सिख पुलिस अधिकारी को बंब के ऊपर खड़े दिखाया जाता है और जब संजय दत्त उस अधिकारी को यह बताते हैं तो उस सिख पुलिस अधिकारी का पेशाब निकल जाता है और उसकी पेंट गीली हो जाती है!

यह दृश्य हंसने के लिए तो बहुत अच्छा है लेकिन क्या वाकई में यदि किसी सिख के साथ हक़ीक़त में ऐसा हो जाये तो?

तो सिख बचने की युक्ति जरूर सोचेगा लेकिन उसकी पेंट कभी गीली नहीं होगी ! हाँ एक पंडित की जरूर हो सकती है! मैंने कश्मीर से इन्हें घर बार छोड़ कर भागते हुए भी देखा है जबकि मैं पगड़ी बाँध कर श्री नगर की गलियों में रात हो या दिन, घूमा करता था!

विश्वास न हो तो १९६५ की भारत पाक जंग को ही ले लें! कई सिख सैनिकों ने पाकिस्तानी सेना की बढ़त रोकने के लिए अपनी छाती से माइन (बारूदी सुरंग) बाँध कर टैंकों की चेन के आगे लेट गए थे, खुद तो शहीद हुए लेकिन टैंक नाकारा कर दिए थे और इस कश्मीरी पंडित की औलाद ने सिखों को कायर दिखाने में कोई कसर ना छोड़ी थी!

Beggar Sikh

अब आज की आमिर खान की फिल्म पी के में भी इसने सिखों को धोखे बाज़ और भिखारी दिखाया है लेकिन सिख समाज इसे हल्के में ले रहा है! युवा पीढ़ी इस की गंभीरता को नहीं देख पा रही है! यह एक तमाचा है जो इस हरामी कश्मीरी ने सिख क़ौम के मुंह पर मारा है!

विधु जो खुद कश्मीरी है, उसने देखा ही होगा कि किस तरह सिख क़ौम अभी हाल ही में कश्मीर में आई  बाढ़ में लोगों की किस तरह से सेवा की थी, उन्हें मुफ्त में दवाइयाँ, भोजन तथा गर्म कपडे आदि दिए गए ! सिखों के अतिरिक्त और कौन आया था भारत या दुनिया के किसी अन्य कोने से उनकी मदद के लिए ? एक लाख लोगों को रोज़ भोजन खिलाया गया और ये हमें भिखारी दिखाता है? एक लाख बंदा  तो रोज़ दरबार साहब में ही लंगर खाता है!

यदि सिखों ने मिशन कश्मीर की फिल्म पर एतराज़ किया होता और इसकी क्लास ली होती तो यह दुबारा ऐसी ओछी हरकत ना करता!

अब सिख क़ौम के नेताओं को चाहिए कि वे इस पर अपनी आपत्ति दर्ज़ करें!

मेरा दावा है कि यह पूरा भारत घूम ले, इसे कोई सिख भिखारी नहीं मिलेगा लेकिन यह उस कश्मीरी पंडित की औलाद है जो अहसान फरामोश है!

Ajmer kesri

अजमेर सिंह रंधावा

One Response to “Director Vidhu Vinod Chopra disgraces Sikhs in his film”

  1. Vidhu Vinod Chopra is a serial offender to project Sikhs as disgraceful characters in his films | Voice of Sikh nation Says:

    […] For reference kindly visit my previous post on wordpress.com at https://asrandhawa.wordpress.com/2014/12/31/director-vidhu-vinod-chopra-disgraces-sikhs-in-his-film/ […]

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s


%d bloggers like this: